पब्लिक प्रोविडेंट फंड क्या है PPF Account ki Jankari

पब्लिक प्रोविडेंट फंड क्या है| पब्लिक प्रोविडेंट फंड जिसका पूरा नाम पीपीएफ अकाउंट है| पीपीएफ अकाउंट निवेश करने का एक अच्छा माध्यम है| पीपीएफ अकाउंट खाते में सालाना डेढ़ लाख रुपए तक के निवेश पर टैक्स में 80C के तहत छूट मिलती है| अगर आप इस अकाउंट में कोई धनराशि जमा करते हैं, तो मैच्योरिटी होने पर पूरी रकम पर कोई भी टैक्स नहीं देना पड़ता|

पीपीएफ अकाउंट में काफी सारे टैक्स बेनिफिट है| जिसकी वजह से लोग अपना पीपीएफ अकाउंट बैंक और पोस्ट ऑफिस में खुलवाते हैं| पब्लिक प्रोविडेंट फंड भारत सरकार द्वारा पेश किया गया एक बचत योजना है| जिसे सन 1968 में वित्त मंत्रालय के नेशनल सेविंग इंस्टीट्यूट द्वारा बनाया गया था| पीपीएफ खाते पर ब्याज की धनराशि भारत सरकार द्वारा किया जाता है| यह टैक्स में छूट के लिए भी काफी ज्यादा फेमस है| वर्तमान में पीपीएफ अकाउंट पर ब्याज दर 7.1% तय की गई है|

जनवरी से लेकर मार्च 2020 तक पीपीएफ अकाउंट पर ब्याज दर 7.9% था| केवल ₹500 हर साल निवेश करने के लिए भी आप पीपीएफ अकाउंट खोल सकते हैं| और आप इसमें ज्यादा से ज्यादा डेढ़ लाख रुपए सालाना निवेश कर सकते हैं| आपके निर्देशित किए गए धनराशि पर आपको 7.1% सालाना ब्याज भी मिलेगा| पीपीएफ अकाउंट में मैच्योर राशि पर कोई भी टैक्स नहीं देना होता|

पीपीएफ अकाउंट की कुछ मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित है|

प्रति वर्ष ₹500 से अधिकतम डेढ़ लाख रुपए तक aap पीएफ अकाउंट में जमा करा सकते हैं|

इसमें जमा राशि और मैच्योरिटी वाली राशि में कोई भी टैक्स नहीं लगता|

पीपीएफ खाते में मूलधन और ब्याज की गारंटी भारत सरकार द्वारा निर्धारित की जाती है|

पीपीएफ खाते के लिए हर 3 महीने में ब्याज दर की घोषणा की जाती है| यहां पर ब्याज दर किसी भी बैंक में फिक्स डिपॉजिट पर ब्याज दर से अधिक होती है|

पीपीएफ खाता कोई भी भारतीय नागरिक खुलवा सकता है| पीपीएफ खाता खोलने के लिए अधिकतम उम्र की कोई सीमा नहीं है|

पोस्ट ऑफिस या किसी भी सरकारी बैंक में पीपीएफ अकाउंट खुलवा सकते हैं|

10 साल का उम्र वाले लोग भी पीपीएफ अकाउंट खुलवा सकते हैं, लेकिन उनके अकाउंट के साथ अभिभावक यानी संरक्षक का होना जरूरी है|

यह खाता कम से कम ₹500 से स्टार्ट होता है और हर साल खाते में ₹500 जमा कराने होते हैं| अगर आप हर साल नहीं जमा कराते तो ₹50 प्रति वर्ष के हिसाब से पेनल्टी भी लगती है|

इस खाते में अधिकतम ₹150000 तक जमा किए जा सकते हैं| हर साल अधिकतम 12 बार तक पैसा जमा करने की छूट है|

पीपीएफ खाते में NEFT आरटीजीएस और नेट बैंकिंग से भी पैसे जमा करने की सुविधा है| पीपीएफ खाते की जमा राशि ब्याज और निकालने पर टैक्स की छूट रहती है|

अगर आप 5 साल बाद आंशिक रूप से पीपीएफ अकाउंट की रकम को पूरी तरह निकालते हैं, तो भी टैक्स फ्री है|

पीपीएफ खाते के 3 साल पूरे हो जाने पर आपको यहां जमा रुपए पर लोन की सुविधा उपलब्ध है| जो कि बिना किसी डॉक्यूमेंट के मिल जाती है|

पीपीएफ अकाउंट को आप 5 साल बाद किसी भी इमरजेंसी स्थिति में बंद करवा सकते हैं, और सारा पैसा निकाल सकते हैं|

15 साल पूरे होने के बाद आपको पूरी धनराशि ब्याज सहित लौटा दी जाती है| और उस पर कोई भी टैक्स नहीं लगता|

(Visited 5 times, 1 visits today)