Top Major Difference of USB Type C vs Micro USB

आप सभी ने स्मार्टफोन में चार्जिंग पोर्ट तो देखा ही होगा| यह चार्जिंग पोर्ट हर Smartphone में आपको समय-समय पर अलग-अलग प्रकार के देखने को मिलते होंगे| अगर आप इस समय लेटेस्ट मोबाइल यूज कर रहे हैं| तो आपको एक नए तरीके का चार्जिंग पोर्ट Dekhne Ko Milta होगा| Yeh चार्जिंग पोर्ट USB Type C चार्जिंग पोर्ट कहा जाता है| और इसको आप किसी भी तरफ से घुमाकर लगा सकते हैं|

what-is-top-major-difference-of-usb-type-c-and-micro-usb-in-hindi

पहले जो चार्जिंग पोर्ट आते थे| उसमें आपको हमेशा चार्जिंग पिन ध्यान से लगानी पड़ती थी, और उल्टा और सीधा दोनों साइडों का ख्याल रखना होता था| यह चार्जिंग पोर्ट होता क्या है? और कैसे काम करता है? यहां पर हम इसके बारे में ही विस्तार से जानेंगे| चार्जिंग पोर्ट स्मार्टफोन में दो तरह की होते हैं, Micro USB चार्जिंग पोर्ट और USB Type C Port इन दोनों में क्या अंतर है? इस पोस्ट में इसके बारे में ही बात करेंगे|

Micro USB

माइक्रो यूएसबी पोर्ट का इस्तेमाल 2007 में स्टार्ट हुआ था| यह अपने शुरुआती दिनों में म्यूजिक प्लेयर, MP3 प्लेयर और छोटे Mobile में इस्तेमाल होते थे| MicroUSB चार्जिंग पोर्ट 3 तरह के होते हैं| (1) माइक्रो यूएसबी टाइप ए (2) माइक्रो यूएसबी टाइप बी और (3) माइक्रो यूएसबी टाइप 3.0. यह तीनों ही पोर्ट दिखने में अलग तरीके के होते हैं| और एक दूसरे से काफी अंतर होता है| यह चार्जिंग पोर्ट 480 एमबीपीएस स्पीड से डाटा को ट्रांसफर कर सकते हैं|

माइक्रो यूएसबी Maximum 18W की फास्ट चार्ज को सपोर्ट करता है| इसके अलावा माइक्रो यूएसबी पोर्ट कुछ गैजेट्स को ही सपोर्ट करते हैं| समय के साथ अब जितने भी गैजेट्स आ रहे हैं| सभी में फास्टर डाटा ट्रांसफर & फास्ट चार्जिंग स्पीड चाहिए| जिसकी वजह से माइक्रो यूएसबी फास्ट डिवाइस में कामयाब नहीं है|

USB Type C

इसकी जगह पर एक नया पोर्ट USB Type C Port मार्केट में आ गया| जिसका इस्तेमाल 2014 से होने लगा| यह टाइप सी पोर्ट काफी ज्यादा फ्लैक्सिबल काफी ज्यादा फास्ट और सभी तरह की डिवाइस में सपोर्ट करता है| इस चार्जर का पोर्ट एक जैसा होता है| और सभी डिवाइसों में एक समान होता है| हालांकि स्पीड के लेवल से, यानी की डाटा स्पीड और चार्जिंग लेवल से इसमें भी अलग-अलग वर्जन आते हैं|

लेकिन यूएसबी टाइप सी का डिजाइन हमेशा एक ही होता है पूरे वर्ल्ड में| जिससे कि आसानी से इसका डाटा केबल और चार्जिंग पिन किसी भी डिवाइस Ko लग जाता है| USB Type C Port में 24 पिन इस्तेमाल होते हैं| और माइक्रो यूएसबी पोर्ट में 5 PIN का इस्तेमाल किया जाता है| यह दोनों ही पोर्ट 10000 बार यूज करने के लिए बने हुए हैं| यानी कि इनकी लाइफ साइकिल 10000 बार प्लग और अनप्लग की है| इसके बाद यह खराब हो सकते हैं| आजकल जबकि जमाना काफी फास्ट है, सभी स्मार्टफोन में फास्ट चार्जिंग आ रही है|

100W Fast Charge Support & Fast Data Transfer

यूएसबी टाइप सी पोर्ट 100W Fast Charge को सपोर्ट करता है| इसका डाटा ट्रांसफर 5GB पर सेकंड से 10GB पर सेकंड के हिसाब से होता है| जबकि देखा जाए तो माइक्रो यूएसबी में Data Transfer मैक्सिमम 480 एमबीपीएस की स्पीड से होता है| हालांकि माइक्रो यूएसबी की प्राइस काफी कम होती है| और यूएसबी टाइप सी पोर्ट की प्राइस काफी ज्यादा होती है|

इसीलिए सस्ते स्मार्टफोन, Keypad Mobile या किसी भी इलेक्ट्रॉनिक Gadgets में आपको MicroUSB पोर्ट देखने को मिलेगा| लेकिन महंगे और Fast डिवाइस में आपको यूएसबी टाइप सी Charging Port देखने को मिलेगा| Yaha पर मैं कुछ टॉपिक पर इन दोनों का Compare कर रहा हूं| ताकि आप को समझने में आसानी हो जाए|

USB Type C vs. Micro USB

CriteriaUSB Type CMicro USB
Data Speed5GBPS to 10 GB per Second Max480Mbps Max
Charging SpeedUpto 100WUpto 18W
Durability10000 Plug & Unplug10000 Plug & Unplug
CompatibilityOne Size Fit in all Device so More Compatible3 Different Size Port so Less Compatibility to many Device
PricingHighLow
FlexibleHighLow
FasterHighLow
Life Cycle10000 Times Use10000 Times Use
Supported DeviceMax Gadgets Supported by This PortFew Gadgets Supported by This Port Bcoz Old Technology
Start in Use20142007
(Visited 7 times, 1 visits today)